{ New } 100+ Best Bewafa Shayari in Hindi for Heart Broken Lovers

bewafa shayari

Bewafa Shayari in Hindi की इस पोस्ट मे हम आपका रूबरू कराएंगे एक आशिक को बीच मे छोड़ देने वाली बेवफा महोब्बत से जिसके बाद आप भी आशिक हो जाओगे हमारी इस Bewafa Shayari से।

दोस्तों आज के समय मे प्यार करना तो बहुत आसान हो गया है लेकिन उस प्यार को निभाना बहुत ही मुश्किल होता है क्योंकि प्यार मे आपको हमेशा सच्चा प्यार नहीं मिलता जो अपने सभी दुख – सुख मे आपका साथ दे इस लिए प्यार मे बेवफाई आपको बहुत देखने को मिल जाएगी।

इस लिए प्यार के की लोंग को नफरत हो जाती क्योंकि वह जब भी किसी से प्यार करते तो वह यही सोचते की हम जिससे प्यार कर रहे वो पार्टनर हमसे भी उतनी ही महोबत करता है लेकिन असलियत कुछ और होती है।

क्योंकि जिस पार्टनर के आप सच्ची महोबत करते हो वो आपको काही न काही चीट कर रहा होता जिस वजह से आपका सच्चा प्यार बेवफा मे बदल जाता और आप बहुत अधिक निरास हो जाते हो और फिर आप अपने आपे मे नहीं रहते हो इस लिए आज हम आपको कुछ bewafa Ki shayari पढ़ने के लिए कहंगे जिससे आप अपने मन को थोड़ा स बदल सकोगे।

अपने काफी सारी मूवी देखि होंगी जिसमे आपको रोमांटिक स्टोरी के साथ साथ थोड़ा बेवफा प्यार भी देखने को मिल होगा लेकिन उसी मूवी मे अपने सायद ये भी देखा होगा की अगर आप सच्चे हो तो आपको आपका सच्चा प्यार भी मिलेगा।

इस लिए आप इन Bewafa Hindi Shayari को बड़ी ही खुशी के साथ पढिए ताकि आप अपने सभी गम को पूर्ण रूप से मिटा कर अपनी जिंदगी को खुशी के साथ जी सको।

Bewafa Shayari in Hindi

आइए आपको अब हम पढ़ने जा रहे Bewafa Shayari in Hindi की कुछ ऐसी शायरी जिसे अपने कभी भी किसी पुस्तक मे नहीं पढ़ी होगी तो आइए सुरू करते है।

कच्ची दीवार हूँ ठोकर ना लगाना मुझे,

अपनी नज़रों में बसा कर ना गिराना मुझे,

तुमको आँखों में तसव्वुर की तरह रखता हूँ,

दिल में धड़कन की तरह तुम भी बसाना मुझे.,

अजीब सी पहेलियाँ हैं मेरे हाथों की लकीरों में,

लिखा तो है सफ़र मगर मंज़िल का निशान नहीं.,

ये शेरो-शायरी सब उसी की मेहरबानी है,

वो कसक जो सीने से आज भी नहीं जाती.,

कहाँ से लाऊ हुनर उसे मनाने का,

कोई जवाब नही था उसके रूठ जाने का,

मोहब्बत में सज़ा मुझे ही मिलती थी,

क्युकी जुर्म मैंने किया था उससे दिल लगाने का.,

हमारा पहला प्यार अधूरा रह जाता है,

लेकिन जाते जाते वो हमे बहुत कुछ सिखा जाया है.,

bewafa shayari
Image – Bewafa Shayari

उसे बेवफा कहेंगे तो अपनी ही नजर में गिर जाएंगे हम,

वो प्यार भी अपना था और वो पसंद भी अपनी थी.,

हाथ पकड़कर रोक लेते अगर,

तुझ पर जरा भी जोर होता मेरा.,

ना रोते हम यूं तेरे लिए,

अगर हमारी जिंदगी में तेरे सिवा कोई और होता.,

कभी फुर्सत मिले तो इतना जरुर बताना।

वो कौन सी मोहब्बत थी जो हम तुम्हें दे ना सकें.,

तन्हाई में रोना और दुनिया वालों के सामने हंसना मजबूरी है हमारी,

हां! पता है बेवफा है वो लेकिन सच्ची मोहब्बत है वो हमारी.,

वो कब थी तुम्हारी दोस्त जो छोड़ने की बात कर रहे हो,

शायद तुम्हें ही गलतफहमी है जो इसे बिछड़ना नाम दे रहे हो.,

Pyar Shayari

एक आदत बनी थी मुझे तेरे साथ जीने की ऐ बेवफा.

पता तो मुझे भी था कि मरूँगा तो मैं अकेले ही.,

दिल भर ही गया है, तो मना करने में डर कैसा,

मोहब्बत में बेवफाओ पर कोई मुकदमा थोड़े होता है.,

तू भी आईने की तरह बेवफा निकला,

जो सामने आया उसी का हो गया.,

मत गिरा अपने झूठे इश्क के आसूं मेरी कबर पर,

अगर तुझमे वफा होती तो आज जिन्दगी हमसे यूँ खफा ना होती.,

है वो बेवफा तो क्या हुआ मत कहो बुरा उसको,

जो हुआ सो हुआ खुश रखे खुदा उसको.,

bewafa shayari in hindi
Image – Bewafa Shayari in Hindi

आज धोखा मिला है इश्क में मेरा दिल टूट सा गया है,

ऐसा लग रहा है जैसे किसी का साथ छूट सा गया है.,

मोहब्बत का नतीजा दुनिया में हमने बुरा देखा,

जिन्हें दावा था वफा का उन्हें भी हमने बेवफा देखा.,

एक बेवफा की याद में खुद को मिटा दिया,

दिल तो जला ही जला था यारों हमने होठों को भी जला दिया.,

किसी बेवफा ने मेरे दिल को तोड़ दिया,

इसलिए हमने रास्ता मोड़ लिया,

दिल की बात मत करना दोस्त,

हमने तो प्यार करना ही छोड़ दिया.,

चलो छोड़ो ये बहस की वफा किसने की,

और बेवफा कौन है,

तुम तो ये बताओ कि आज तन्हा कौन है.,

Bewafa Shayari

अब आइए आपको पढ़ाएंगे हम कुछ स्पेशल Bewafa Shayari जो की एक सच्चे आशिक को बहुत ही ज्यादा पसंद आएंगे।

दिल तो रोज कहता है मुझे कोई सहारा चाहिए.,

फिर दिमाग कहता है क्या धोखा दुबारा चाहिए.,

किससे होकर खफा किससे बेवफाई कर रहे हैं,

दिल में अँधेरा लिए लोग जमाने में रौशनी भर रहे हैं.,

मिल के नजर से नजर लूट लेंगे,

ये बेवफा जलवे जिगर लूट लेंगे,

हसीनों पे हरगिज भरोसा ना करना,

खुद की कसम से ये घर के घर लूट लेंगे.,

ना वो सपना देखो जो टूट जाए,

ना वो हाथ थामो जो छूट जाए,

मत आने दो किसी को करीब इतना,

कि उसके दूर जाने से इंसान खुद से रुठ जाए.,

था कोई जो मेरे दिल को जख्म दे गया,

जिंदगी भर रोने की कसम दे गया,

लाखों फूलों में से एक फूल चुना था मैंने,

जो काटों से भी गहरा जख्म दे गया.,

bewafa ki shayari
Image – Bewafa Ki Shayari

आपकी नशीली यादों में डूब कर,

हमने इश्क की गहराई को समझा,

आप तो दे रहे थे “धोखा”

और हमने जान कर भी कभी,

आपको बेवफा ना समझा.,

बेवफा तेरा मासूम चेहरा,

भूल जाने के काबिल नहीं,

है मगर तू बहुत खूबसूरत,

पर दिल लगाने के काबिल नहीं है.,

बेवजह बेवफाओं को याद किया है,

गलत लोगों पर बहुत वक्त बर्बाद किया है.,

खुद को कुछ इस तरह तबाह किया,

इश्क़ किया क्या ख़ूबसूरत गुनाह किया,

जब मुहब्बत में न थे तब खुश थे हम,

दिल का सौदा किया बेवजह किया.,

रात की गहराई आँखों में उतर आई,

कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई,

ये जो पलकों से बह रहे हैं हल्के हल्के,

कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई.,

हमें न मोहब्बत मिली न प्यार मिला,

हम को जो भी मिला बेवफा यार मिला,

अपनी तो बन गई तमाशा ज़िन्दगी,

हर कोई अपने मकसद का तलबगार मिला.,

कुछ अलग ही करना है तो वफ़ा करो दोस्त,

वरना मज़बूरी का नाम लेकर बेवफाई तो सभी करते है.,

ये बेवफा वफा की कीमत क्या जाने,

है बेवफा गम-ऐ मोहब्बत क्या जाने,

जिन्हे मिलता है हर मोड पर नया हमसफर,

वो भला प्यार की कीमत क्या जाने.,

हमारे हर सवाल का सिर्फ एक ही जवाब आया,

पैगाम जो पहूँचा हम तक बेवफा इल्जाम आया.,

हसीनो ने हसीन बनकर गुनाह किया,

औरों को तो ठीक पर हम को भी तबाह किया,

अर्ज़ किया जब ग़ज़लों मे उनकी बेवफ़ाई को तो,

औरों ने तो ठीक उन्होने भी वा वा किया.,

bewafa dost shayari
Image – Bewafa Dost Shayari

मेरे दिल की दुनिया पे तेरा ही राज था,

कभी तेरे सीर पर भी वफाओ का ताज था,

तूने मेरा दिल तोडा पर पता न चला तुझको,

क्योंकि टुटा दिल दीवाने का बे आवाज था.,

तलाश मेरी थी और भटक रहा था वो,

दिल मेरा था और धड़क रहा था वो,

प्यार का तालुक भी अजीब होता है,

आंसू मेरे थे सिसक रहा था वो.,

मैंने प्यार किया बड़े होश के साथ,

मैंने प्यार किया बड़े जोश के साथ,

पर हम अब प्यार करेंगे बड़ी सोच के साथ,

क्योंकि कल उसे देखा मैंने किसी और के साथ.,

मोहब्बत का नतीजा दुनिया में हमने बुरा देखा.

जिन्हे दावा था वफा का उन्हें भी हमने बेवफा देखा.,

मुझसे वादा करो मुझे रुलाओगे नहीँ,

हालात जो भी हो मुझे भुलाओगे नहीं.,

आज हम उनको बेवफा बताकर आए है,

उनके खतो को पानी में बहाकर आए है,

कोई निकाल न ले उन्हें पानी से,

इस लिए पानी में भी आग लगा कर आए है.,

Bewafa Dost Shayari

अब आइए हम आपको कुछ Bewafa Dost Shayari पढ़ाएंगे जो आपको बहुत ही अधिक पसंद आने वाले है क्योंकि अपने आज तक काभी दोस्तों के लिए बेवफा शायरी नहीं पढ़ी होगी।

कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,

कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी,

बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,

आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी.,

आज किसी की दुआ की कमी है,

तभी तो हमारी आँखों में नमी है,

कोई तो है जो भूल गया हमें,

पर हमारे दिल में उसकी जगह वही है.,

जिस्म से होने वाली मोहब्बत का इज़हार आसान होता है,

रूह से हुई मोहब्बत समझने में ज़िन्दगी गुजर जाती है.,

बड़े सुकून से रहते है अब वो मेरे बिना.

जैसे किसी उलझन से छुटकारा मिल गया हो.,

shayari bewafa
Image – Shayari Bewafa

वही शख्स आकेला छोड गया मुझे इस दुनिया कि भीड मे.

जिसने दुनिया की भीड़ से चुन के मुझे अपना बनाया था.,

प्यार में बेवाफाई मिले तो गम न करना,

अपनी आँखे किसी के लिए नम न करना,

वो चाहे लाख नफरते करें तुमसे,

पर तुम अपना प्यार कभी उसके लिए कम न करना.,

ना पूछ मेरे सब्र की इंतहा कहाँ तक है,

तू सितम कर ले तेरी हसरत जहां तक है,

वफ़ा की उम्मीद जिन्हें होगी उन्हें होगी,

हमे तो देखना है तू बेवफा कहा तक है.,

मेरी रूह में न समाती तो भूल जाता तुम्हे,

तुम इतना पास न आती तो भूल जाता तुम्हे,

यह कहते हुए मेरा ताल्लुक नहीं तुमसे कोई,

आँखों में आंसू न आते तो भूल जाता तुम्हे.,

कौन कहता है सिर्फ नफरतो में ही दर्द है,

कभी कभी बेपनाह मोहब्बत भी बहुत दर्द देती है.,

चले आज तुम ज़हां से ह्ई ज़िन्दगी पराई,

तुम्हे मिल गया ठिकाना हमे मौत भी ना आई.,

ओ दूर के मुसफिर हमको भी साथ लेले रे.

हमको भी साथ लेले हम रह गये एकले.,

जिस किसीको भी चाहो वोह बेवफा हो जाता है,

सर अगर झुकाओ तो सनम खुदा हो जाता है,

जब तक काम आते रहो हमसफ़र कहलाते रहो,

काम निकल जाने पर हमसफ़र कोई दूसरा हो जाता है.,

नादान इनकी बातो का एतबार ना कर,

भूलकर भी इन जालिमो से प्यार ना कर,

वो क़यामत तलक तेरे पास ना आयेंगे,

इनके आने का नादान तू इन्तजार ना कर.,

रास्ते खुद ही तबाही के निकाले हम ने,

कर दिया दिल किसी पत्थर के हवाले हमने,

हाँ मालूम है क्या चीज़ हैं मोहब्बत यारो,

अपना ही घर जला कर देखें हैं उजाले हमने.,

क्यों जिंदगी इस तरह तुम दूर हो गए,

क्या बात है जो इस तरह मगरूर हो गए,

हम तरसते रहे तुम्हारा प्यार पाने को,

बेवफा बनकर तुम तो मशहूर हो गए.,

bewafa hindi shayari
Image – Bewafa Hindi Shayari

चर्चा हो रही थी मोहब्बत लिखने वालो की,

स्याही भटक गई तेरा नाम लिखते लिखते.,

जुल्मो सितम सहते रहे एक बेवफा की आस मे,

डुबो दिया मुझे दरिया ने दो घूट की प्यास में.,

मेरे कलम से लफ्ज़ खो गए सायद,

आज वो भी बेवफा हो गाए सायद,

जब नींद खुली तो पलकों में पानी था,

मेरे ख्वाब मुझपे रो गाए सायद.,

हमारे हर सवाल का सिर्फ एक ही जवाब आया,

पैगाम जो पहूँचा हम तक, बेवफा इल्जाम आया.,

उन्होंने हमें आजमाकर देख लिया,

इक धोखा हमने भी खा कर देख लिया,

क्या हुआ हम हुए जो उदास,

उन्होंने तो अपना दिल बहला के देख लिया.,

Dard Bhari Bewafa Shayari

वो सुना रहे थे अपनी वफाओं के किस्से,

हम पर नजर पड़ी तो खामोश हो गये.,

बेवफाई का मौसम भी अब यहाँ आने लगा है,

वो फिर से किसी और को देख कर मुस्कुराने लगा है.,

दाद देते है हम तुम्हारे नजरअंदाज करने के हुनर को,

जिस ने भी सिखाया है वो उस्ताद कमाल का होगा.,

बेवफाई का मौसम भी अब यहाँ आने लगा है,

वो फिर से किसी और को देख कर मुस्कुराने लगा है.,

फिर से निकलेंगे तलाश-ए-ज़िन्दगी में,

दुआ करना इस बार कोई बेवफा न निकले.,

Image – Bewafa Sad Shayari

मेरी वफा के क़ाबिल नही हो तुम,

प्यार मिले ऐसे इन्सान नही हो तुम,

दिल क्या तुम पर ऐतबार करेगा,

प्यार मे धोखा दिया ऐसे बेवफा हो तुम.,

सब के होते हुए भी तन्हाई मिलती हे,

यादो में भी गम की परछाई मिलती हे,

जितनी भी दुआ करते हे किसी को पाने की,

उतनी ही उनसे बेवफाई मिलती है.,

मेरी वफा के क़ाबिल नही हो तुम,

प्यार मिले ऐसे इन्सान नही हो तुम,

दिल क्या तुम पर ऐतबार करेगा,

प्यार मे धोखा दिया ऐसे बेवफा हो तुम.,

आज हम उनको बेवफा बताकर आए है,

उनके खतो को पानी में बहाकर आए है,

कोई निकाल न ले उन्हें पानी से,

इस लिए पानी में भी आग लगा कर आए है.,

रोये कुछ इस तरह से मेरे जिस्म से लग के वो,

ऐसा लगा कि जैसे कभी बेवफा न थे वो.,

Bewafa Shayari Hindi

आज अचानक तेरी याद ने मुझे रुला दिया,

क्या करू तुमने जो मुझे भुला दिया,

न करते वफ़ा न मिलती ये सजा,

शायद मेरी वफ़ा ने ही तुझे बेवफा बना दिया.,

ज़हर देता है कोई, कोई दवा देता है,

जो भी मिलता है मेरा दर्द बढ़ा देता है.,

बहुत अजीब सिलसिले है मोहब्बत इश्क मैं,

कोई वफ़ा के लिए रोया तो कोई वफ़ा कर के रोया.,

तुम समझ लेना बेवफा मुझको, मै तुम्हे मगरूर मान लूँगा,

ये वजह अच्छी होगी, एक दूसरे को भूल जाने के लिये.,

मेरी आँखों से बहने वाला ये आवारा सा आसूँ,

पूछ रहा है पलकों से तेरी बेवफाई की वजह.,

Image – Bewafa Shayari in English

भुला देंगे तुमे भी, ज़रा सबर तो कीजिए,

तुम्हारी तरह बेवफा होने मे थोड़ा वक़्त तो लगेगा.,

उनकी नजर मै फर्क आज भी नहीं,

पहले मुड़ कर देखते थे, अब देख कर मुड़ जाते है.,

इजाज़त हो तो तेरे चहेरे को देख लूँ जी भर के,

मुद्दतों से इन आँखों ने कोई बेवफा नहीं देखा.,

कोई नही आऐगा मेरी जिदंगी मे तुम्हारे सिवा,

एक मौत ही है जिसका मैं वादा नही करता.,

भूल जाना तुम मुझे पर ये याद रखना,

तेरी रूह रोयेगी जब कोई मेरा नाम लेगा.,

ज़रा सा भी नहीं पिघला तेरा दिल,

कहाँ से खरीदा इतना कीमती पत्थर.,

प्यार तो बेशक दिल से ही होता है,

पर कुछ लोग इसमें भी दिमाग लगा लेते है.,

तेरी यादें हर रोज आ जाती है मेरे पास

लगता है तुमने बेवफाई नही सिखाई इनको

बहुत भीड़ है इस मोहब्बत के शहर में,

एक बार जो बिछड़ा वो दोबारा नहीं मिलता.,

महसूस करता हूँ उस हवाओं को,

आज भी जिससे तेरी खुशबू आती है.,

Image – Dard Bhari Bewafa Shayari

हमे नहीं आता दर्द का दिखावा करना,

बस अकेले रोते हैं और सो जाते हैं.,

छोड़ दिया किस्मत की लकीरों पर यकीन करना,

जब लोग बदल सकते है तो किस्मत क्या चीज़ है.,

अब तो वक्त ही उसे बतायेगा,

की कितने कीमती थे हम.,

उसकी मोहबत पे मेरा हक़ तो नहीं लेकिन,

दिल करता है के उम्र भर उसका इंतज़ार करू.,

आंखों में जिनके बस गई दुनिया भर की रौनकें,

वो शख्स बेवफाई का एक जिंदा मिसाल था.,

Discipline Quotes

मेरी चुप्पी का मतलब बेवफाई न समझो,

कभी – कभी मजबूरियाँ भी खामोश कर जाती है.,

चोट है, ज़ख्म़ हैं, तोहमत है, बेवफाई है,

बचपन के बाद इम्तहान कड़ा होता है.,

मोहबत खो गयी मेरी बेवफ़ाई के दलदल में,

मगर इन पागल आँखो को आज भी तेरी तलाश रहती है.,

जाम पे जाम पीने से क्या फायदा दोस्तों,

रात को पी हुयी शराब सुबह उतर जाएगी,

अरे पीना है तो दो बूंद बेवफा के पी के देख,

सारी उमर नशे में गुज़र जाएगी.,

वो तो अपना दर्द रो-रो कर सुनाते रहे,

हमारी तन्हाइयों से भी आँख चुराते रहे,

हमें ही मिल गया बेवफ़ा का ख़िताब क्योंकि,

हम हर दर्द मुस्कुरा कर छिपाते रहे.,

मेरे कलम से लफ्ज खो गए शायद,

आज वो भी बेवफा हो गए शायद,

जब नींद खुली तो पलको में पानी था,

मेरे ही ख्वाब मुझ पर रो गए शायद.,

Conclusion

इन सभी शायरी को पढ़ने के बाद आपके मन मे प्यार के एक नया फूल जरूर जागा होगा जिसे आप अपने परिवार की खुशी के लिए सीचीए फिर आपको जीवन मे काभी भी गम महसूस नहीं होगा क्योंकि आपका परिवार आपको काभी धोका नहीं देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *