100+ Best Maa Shayari in Hindi | Maa Ki Shayari

Maa Shayari

Maa Shayari – दोस्तों आज हम सभी भले जीतने भी बड़े क्यों न हो जाए लेकिन हम अपने घर वालों की नजर मे हमेशा बच्चे ही रहते है लेकिन धीरे – धीरे जब हम जीमेदारी को संभालने लगते तो घर वाले हम लोंग को अपने पैर पर खड़ा होते हुए देखते और फिर हम सब को भी बड़ों की उपाधि मिलने लगती घर मे।

लेकिन हम सब के घर मे एक ऐसा भी सदस्य होता जिसके नजर मे भले ही शादी – सूद या फिर बच्चे वाले भी क्यों न हो जाए लेकिन रहेंगे उनके लिए बच्चे के समान ही और वो सकाश होती है।

हमारी माता, क्योंकि माता अपने बच्चों को काभी बड़ा नहीं मानती वो बचपन से लेकर जब तक वह रहती है तब तक वह हम सभी की सेवा करती है। क्योंकि एक बच्चे और माँ का रिश्ता बहुत अनोखा होता है।

आप सभी ने बहुत सी फिल्म या अपने आस – पास देखा होगा की बहुत सी माता जो धन से धनी नहीं होती वह अपने बच्चे के लालन – पोषण के लिए इधर उधर काम करके पैसे कमाती और अपने बच्चों की हर जरूरत को पूरा करती है।

आखिर मे हम आपको बस इतना ही कहंगे की अगर आप अपने माता से सही स बात नहीं करते या हमेशा उनसे नाराज रहते तो आप एक बार जरा उन गरीब बच्चों से मिल कर आओ जिनकी माता नहीं है।

जो रोज केवल अपनी माँ की आस लगाए सुबह उठता और रात को सोता है। इस लिए आप अपने माता को काभी निराश न करो क्योंकि आपकी माता ने अपने यह तक पहुचने मे बहुत कसठ सहह है। जिसे हम सोच भी नहीं सकते है।

अपनी माता से सभी बैर को खतम करके एक बार अपनी माता से प्यार भरे शब्दों मे बात करो फिर डोकहों आपकी माता आपको तुरंत माफ करके आपके जीवन मे खुसिया भर देंगे साथ मे आप इन Maa Shayari को भी पढ़ो जिससे आपको अपनी माँ से बात करने के काफी अच्छा महसूस होगा।

Maa Shayari in Hindi

माँ बिना जिंदगी वीरान होती है,

तनहा सफर में हर राह सुनसान होती है,

ज़िंदगी में माँ का होना ज़रूरी है,

माँ की दुआओं से ही हर मुश्किल आसान होती है.,

 

माँ की एक दुआ ज़िन्दगी बना देती है,

खुद रोएगी पर तुम्हें हसा देगी,

कभी भूल कर भी माँ को ना रुलाना,

एक छोटी सी बूँद पूरी धरती हिला देगी.,

 

Maa-Beti Shayari

 

माँ की दुआओं में जन्नत है माँ के,

आँचल में स्वर्ग है जिसकी उंगली पकड़,

तू चला तू आज इतना सक्षम हो गया की,

तुझे आज वो बोझ लगी.,

 

माँ तेरी याद सताती है, मेरे पास आ जाओ,

थक गया हूँ, मुझे अपने आँचल मैं सुलाओ,

उंगलियाँ अपनी फेर कर बालों मैं मेरे,

एक बार फिर से बचपन की लोरियाँ सुनाओ.,

 

हर पल में खुशी देती है माँ,

अपनी जिन्दगी से जीवन देती है माँ,

खुदा क्या है माँ की पूजा करो जनाब,

क्योकि खुदा को भी जनम देती है माँ.,

 

maa shayari
Image – Maa Shayari

हर इंसान की जिन्दगी में वह सबसे खास होती है,

दूर होते हुए भी वह दिल के पास होती है,

जिसके सामने मौत भी अपना सर झुका दे,

वह और कोई नहीं बस माँ होती है.,

 

एक हस्ती है जान मेरी,

जो जान से भी बढ़कर है शान मेरी,

रब्ब हुकम दे तो करदूँ सजदा उसे,

क्योंकि वो कोई और नहीं माँ है मेरी.,

 

माँ की एक दुआ ज़िन्दगी बना देती है,

खुद रोएगी पर तुम्हें हसा देगी,

कभी भूल कर भी माँ को ना रुलाना,

एक छोटी सी बूँद पूरी धरती हिला देगी.,

 

जो कुछ भी मिला है मुझे तेरी दुआओं का असर है,

मैं जो कुछ हूँ आज तेरी बस तेरी दुआओं का असर है,

जो आज मैं खुश हूँ तो मेरा नहीं कमाल,

मेरी जो खुशियाँ हैं वो सब तेरी दुआओं का असर है.,

 

दास्तान मेरे लाड़-प्यार की बस,

एक हस्ती के गिर्द घूमती है,

प्यार जन्नत से इसलिए है मुझे,

क्योंकि ये भी मेरी माँ के क़दम चूमती है.,

 

Broken Heart Status

 

अभी ज़िंदा है माँ मेरी,

मुझे कुछ भी नहीं होगा,

मैं घर से जब निकलता हूँ,

दुआ भी साथ चलती है.,

 

माँ की दुआयों में इतना असर है,

मेरे सोये भाग्य जगा देती है,

मिट जाते हैं दुःख दर्द सारे,

जब माँ सर पर हाथ लगा देती है.,

 

किसी को घर मिला हिस्से में या कोई दुकाँ आई,

मैं घर में सब से छोटा था मिरे हिस्से में माँ आई.,

 

कोई दुआ असर नहीं करती,

जब तक वो हम पर नजर नहीं करती,

हम उसकी खबर रखे न रखे,

वो कभी हमें बेखबर नहीं करती.,

 

नींद भी भला इन आँखों में कहाँ आती है,

एक अर्से से मैंने अपनी माँ को नहीं देखा.,

 

Image – Shayari on Maa

बालाएं आकर भी मेरी चौखट से लौट जाती हैं,

मेरी माँ की दुआएं भी कितना असर रखती हैं.,

 

ना जाने क्या था माँ की उस फूँक में,

हर चोट ठीक हो जाया करती थी,

माँ की हल्की सी एक चपत ज़मीन को,

सारा दर्द ही गायब कर दिया करती थी.,

 

ये जो सख्त रास्तो पे भी आसान सफर लगता है,

ये मुझ को माँ की दुआओ का असर लगता है,

एक मुद्दत हुई मेरी माँ नहीं सोई तबिश,

मेने एक बार कहा था के मुझे डर लगता है.,

 

उनको कभी देखा नहीं हमने,

और इसकी जरूरत भी क्या होगी,

ये माँ तेरी सूरत से अलग,

उस भगवान की मूरत ही क्या होगी.,

 

Maa ki Shayari

 

माँ ना होती तो वफा कौन करेगा,

ममता का हक भी अदा कौन करेगा,

रब हर एक माँ को सलामत रखना,

वरना हमारे लिए दुआ कौन करेगा.,

 

आँख खोलू तो चेहरा मेरी माँ का हो,

आँख बंद हो तो सपना मेरी माँ का हो,

मैं मर भी जाऊँ तो भी कोई गम नहीं,

लेकिन कफन मिले तो दुपट्टा मेरी माँ का हो.,

 

ऊपर जिसका अंत नहीं उसे आसमां कहते है,

जहाँ में जिसका अंत नहीं उसे माँ कहते है.,

ऐ अंधेरे! देख ले मुंह तेरा काला हो गया,

माँ ने आंखें खोल दीं घर में उजाला हो गया.,

 

ये कैसा क़र्ज़ है जिसे मैं अदा कर ही नहीं सकता,

मैं जब तक घर न आ जाऊं माँ सजदे में रहती है.,

कभी मुस्कुरा दे तो लगता है जिंदगी मिल गयी मुझको,

माँ दुखी हो तो दिल मेरा भी दुखी हो जाता है.,

 

maa baap shayari
Image – Maa Baap Shayari

स्कूल का वो बस्ता मुझे फिर से थमा दे माँ,

जिंदगी का सफ़र मुझे बड़ा मुश्किल लगता है.,

 

उमर भर तेरी मोहब्बत मेरी खिदमतगार रही माँ,

मैं तेरी खिदमत के काबिल जब हुआ तू चली गयी माँ.,

 

वो लिखा के लायी है किस्मत में जागना,

माँ कैसे सो सकेगी कि बेटा सफ़र में है.,

 

सबकुछ मिल जाता है दुनिया में मगर,

याद रखना की बस माँ-बाप नहीं मिलते,

मुरझा कर जो गिर गए एक बार डाली से,

ये ऐसे फूल हैं जो फिर नहीं खिलते.,

 

क्यों भूल जाते है हम उस माँ को वक़्त के साथ साथ,

नहीं रहता हमको उनका कोई ख्याल,

क्या होता होगा उस माँ के दिल का हाल,

जिसने हमारे लिए भुला दिया अपना हर एक ख्वाब.,

 

कोई दुआ असर नहीं करती,

जब तक वो हमपर नजर नहीं करती,

हम उसकी खबर रखे न रखे,

वो कभी हमें बेखबर नहीं करती.,

 

जब भी मेरे होंटो पर झूटी मुस्कान होती है,

माँ को न जाने कैसे छिपे हुए दर्द की पहचान होती है,

सर पर हाथ फेर कर दूर कर देती है परेशानिया,

माँ के भावनाओ मे बहुत जान होती है.,

 

माँ ने तो उम्र भर संभाला ही था,

हमे तो ज़िंदगी ने रुलाया ही है,

कहा से पड़ती काँटों की आदत हमे,

माँ ने हमेशा अपनी गोद मे सुलाया है.,

 

जब भी गंदा होता हूँ मैं वो साफ़ कर देती है,

अपनी हर संतान के साथ इन्साफ कर देती है,

नाराज होना तो फितरत होते है औलादो,

माँ से जब भी माफ़ी मांगो हर खता माफ़ कर देती है.,

 

लबों पे उसके कभी बद्दुआ नहीं होती,

बस एक माँ ही है जो कभी खफा नहीं होती.,

maa par shayari
Image – Maa Par Shayari

माँ की दुआ इस दुनिया की सबसे बड़ी दौलत है,

जो समझा नहीं वो फ़क़ीर आज तक है.,

 

परेशानियों में भी माँ अपने गोद में तूने सुलाया,

बिना खा कर भी माँ मुझे तूने खिलाया.,

 

तेरे आँचल के कोने पकड़ कर माँ,

मैंने धीरे धीरे चलना सिख लिया,

तेरे पीछे पीछे चलना माँ सिख गया,

तू रह गयी किस कोने में माँ,

देख तेरा बच्चा चलना तो सिख गया.,

 

माँ अधूरे इस जीवन का पूरा हिस्सा है,

तुझ बिन सब कुछ एक किस्सा है.,

 

तेरे बिना सब फीका सा लगता है माँ,

तेरे गोद में ही सोने का दिल करता है माँ.,

 

Maa Shayari Hindi

 

माँ ना हो तो वफ़ा कौन करेगा,

हर हक़ तेरा अदा कौन करेगा,

माँ के प्यार को हमेशा सलामत रखना,

वरना हमारी जीवन की दुआ कौन करेगा.,

 

बहुत रिश्तो में मैंने दिखावट देखी,

कच्चे मिटटी की झूठी सजावट देखी,

माँ का प्यार मैंने हर वक्त वही देखा,

उसके प्यार में मैंने कभी मिलावट ना देखी.,

 

बंद मुकामो की कोई चाबी नहीं होती है,

टूटे उम्मीदों की कोई डाली नहीं होती है,

झुक जाओ अगर माँ के चरणों में तो,

उसकी किस्मत कभी खाली नहीं होती है.,

 

लाखो दुःख हो मगर में ख़ुशी से झूम जाता हूँ,

जब हंसती है मेरी माँ मै हर कुछ भूल जाता हूँ.,

 

जीवन जीने का एहसास तब होता है,

जब हर कदम में माँ तेरा साथ होता है.,

 

maa shayari in hindi
Image – Maa Shayari in Hindi

माँ तेरे हाथो से मै फिर से खाना चाहता हूँ,

जिंदगी वही वाली दौहराना चाहता हूँ.,

 

माँ तेरा प्यार बिना स्वार्थ का है,

तेरे बिना ये जीवन बेकार सा है.,

 

माँ तू ना तो कुछ नहीं मेरी जिंदगी,

खाली खाली सा है ये दिल मेरी,

माँ तू गुस्सा होने पर भी प्यार करती हो,

अपना जान मुझपर यु ही निसार करती हो.,

 

दुनिया का प्यार माँ झूठा है,

तू ना होने पर ये दिल आज रूठा है,

माँ तुझसे बहुत बात करनी है आज,

बता ना माँ तू कहा जा कर छुपी है.,

 

Mirza Ghalib Shayari

 

बचपन का दिन वो फिर से हो जाए,

मै खेलते खेलते माँ तेरे आचल तले सो जाए,

तू धीरे से उठा कर अपनी गोद में ले जाये,

माँ लोरी गा गा कर तू हमें सुलाए.,

 

अच्छा लगता है माँ मुझे तेरे साथ पड़े रहना,

अच्छा लगता है मुझे तेरे साथ हरदम खड़े रहना.,

 

अभी ज़िंदा है माँ मेरी,

मुझे कुछ भी नहीं होगा,

मैं घर से जब निकलता हूँ,

दुआ भी साथ चलती है.,

 

किसी को घर मिला हिस्से में या कोई दुकान आयी,

मैं घर में सब से छोटा था मेरे हिस्से में माँ आई.,

 

जब भी कश्ती मेरी सैलाब में आ जाती है,

मान दुआ करति होइ ख्वाब में आ जाति है.,

 

बर्बाद कर दिया हमें परदेस ने मगर,

मान सब से कह रही है कि बेटा मज़े में है.,

 

maa ke liye shayari
Image – Maa ke Liye Shayari

मुद्दतों बाद मिला है माँ का आँचल,

मुद्दतों बाद आज नींद सुहानी आयी.

ऐ रात मुझे माँ की तरह गोद में ले ले,

दिन भर की मुशकत से बदन टूट रहा है.,

 

दुनिया मे सच्चा इश्क़ तो केवल मा-बाप ही करते है,

बाकी सब तो इश्क़ का दिखावा करते है.,

 

हजारो गम हो फिर भी मैं खुशी से फूल जाता हूँ,

जब हस्ती है मेरी माँ तो मैं हर गम भूल जाता हूँ.,

 

एक बात हमेसा याद रखना,

कोई भी आपकी फिक्र करना छोड़ दे,

लेकिन एक जो मा होती है ना,

वो कभी आपकी फिक्र करना नही छोड़ेगी.,

 

Maa Ke Liye Shayari

 

फना करदो अपनी सारी ज़िन्दगी, अपनी ‘माँ’ के कदमो में यारो,

दुनिया में यही एक मोहब्बत है, जिसमे बेवफाई नहीं मिलती.,

 

देखता हूँ खुद को हमेशा माँ की आँखों में,

यह वो आईना है जिसमे मैं कभी बूढ़ा नहीं होता.,

 

किसी को जोड़ने में इतने मगन थे हम,

होश तब आया जब अपने वजूद के टुकड़े देखे.,

 

अपने गुनाहों पर सौ परदे डाल कर,

हर शख्स कहता है ज़माना ख़राब है.,

 

गिन लेती है दिन बगैर मेरे गुजारें हैं कितने,

भला कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी.,

 

maa ki shayari
Image – Maa Ki Shayari

मैं रात भर जन्नत की सैर करता रहा यारों,

सुबह आँख खुली तो सर माँ के कदमों में था.,

 

किसी को घर मिला, किसी के हिस्से में दुकां आई,

मैं घर में सबसे छोटा था मेरे हिस्से में मां आई.,

 

ना जाने माँ क्या मिलाया करती हैं आटे में,

ये घर जैसी रोटियाँ और कहीं मिलती नहीं.,

 

ऐ अंधेरे! देख ले मुंह तेरा काला हो गया,

माँ ने आंखें खोल दीं घर में उजाला हो गया.,

 

खाने की चीज़ें मां ने जो भेजी हैं गांव से,

बासी हो गई हैं मगर लज़्ज़त वही रही.,

 

जब तक रहा हूं धूप में चादर बना रहा,

मैं अपनी मां का आखिरी ज़ेवर बना रहा.,

 

अब भी चलती है जब आँधी कभी ग़म की राना,

माँ की ममता मुझे बाहों में छुपा लेती है.,

 

रौशनी देती हुई सब लालटेनें बुझ गईं,

ख़त नहीं आया जो बेटों का तो माएं बुझ गईं.,

 

मां-बाप की बूढ़ी आंखों में इक फ़िक्र-सी छाई रहती है,

जिस कम्बल में सब सोते थे अब वो भी छोटा पड़ता है.,

 

उसने मुझे एक थप्पड़ मारा और खुद रोने लगी,

सबको खिलाया और खुद बिना खाए सोने लगी.,

Image – Maa Beti Shayari

सख्त राहों में भी आसान सफ़र लगता है,

ये मेरी माँ की दुआओं का असर लगता है.,

 

हजारों गम हों फिर भी मैं ख़ुशी से फूल जाता हूँ,

जब हंसती है मेरी माँ तो मैं हर गम भूल जाता हूँ.,

 

खयाल-ए-यार हर एक ग़म को टाल देता है,

सुकून दिल को तुम्हारा जमाल देता है,

ये मेरी माँ की दुआओ का फ़ैज़ है मुझपर,

मैं डूबता हूँ तो समंदर उछाल देता है.,

 

एक बेवफा को मैंने गले से लगा लिया,

हीरा समझ कर काँच का टुकड़ा उठा लिया,

दुश्मन तो चाहता था मुझको मिटाना मगर,

माँ की दुआओ ने शफ़ी मुझको बचा लिया.,

 

Maa Baap Shayari

 

शहर में जाकर पढ़ने वाले भूल गए,

किसकी माँ ने कितना ज़ेवर बेचा था.,

 

हँसकर मेरा हर गम भुलाती है माँ,

मैं रोता हूँ तो सीने से लगाती है माँ,

बहुत दर्द दिया है इस ज़माने ने मुझको,

सबकुछ झेलकर जीना सिखाती है माँ.,

 

ये कैसा क़र्ज़ है जिसे मैं अदा कर ही नहीं सकता,

मैं जब तक घर न आ जाऊं माँ सजदे में रहती है.,

 

गिन लेती है दिन बगैर मेरे गुजारें हैं कितने,

भला कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी.,

 

यूँ तो मैंने बुलन्दियों के हर निशान को छुआ,

जब माँ ने गोद में उठाया तो आसमान को छुआ.,

 

सीधा साधा भोला भाला मैं ही सब से सच्चा हूँ,

कितना भी हो जाऊं बड़ा माँ आज भी तेरा बच्चा हूँ.,

 

Image – Maa Shayari Hindi

कही हो जाये ना घर की मुसीबत लाल को मालूम,

छुपा कर तकलीफें तेरा मुस्कुराना याद आता है,

जब आये थे तुझे हम छोड़ कर परदेश मेरी माँ,

मुझे वो तेरा बहुत आंसू बहाना याद आता है.,

 

ख़ुदा ने ये सिफ़त दुनिया की हर औरत को बख्शी है,​

कि वो पागल भी हो जाए तो बेटे याद रहते है​​.,

 

बहुत बुरा हो फिर भी उसको बहुत भला कहती है,

अपना गंदा बच्चा भी माँ दूध का धुला कहती है.,

 

किसी भी ​मुश्किल का अब किसी को हल नहीं मिलता,

​शायद अब घर से कोई माँ के पैर छूकर नहीं निकलता​.,

 

वो लिखा के लायी है किस्मत में जागना,

माँ कैसे सो सकेगी कि बेटा सफ़र में है.,

 

जरा सी बात है लेकिन हवा को कौन समझाए,

कि मेरी माँ दिए से मेरे लिए काजल बनाती है.,

 

ठोकर न मार मुझे पत्थर नहीं हूँ मैं,

हैरत से न देख मुझे मंज़र नहीं हूँ मैं,

तेरी नज़रों में मेरी क़दर कुछ भी नहीं,

मगर मेरी माँ से पूछ उसके लिए क्या नहीं हूँ मैं.,

 

माँ पहले आँसू आते थे,

तो तुम याद आती थी,

आज तू याद आती हो,

और आँसू निकल जाते हैं.,

 

दिन की रौशनी ख्वाबो को बनाने मे गुजर गयी,

रात की नींद बच्चे को सुलाने मे गुजर गयी,

जिस घर मे तेरे नाम की तख्ती भी नहीं है,

साड़ी उम्र उस घर को बनाने मे गुजर गयी.,

 

जब-जब कागज पर लिखा मैने माँ का नाम,

कलम अदब से बोल उठी हो गये चारो धाम.,

 

माँ तेरी याद सताती है मेरे पास आ जाओ,

थक गया हूँ मुझे अपने आँचल मे सुलाओ,

उंगलियाँ अपनी फेर कर बालो में मेरे,

एक बार फिर से बचपन कि लोरियां सुनाओ.,

 

Mohabbat Shayari

 

अपनी माँ को कभी न देखूँ तो चैन नहीं आता है,

दिल न जाने क्यों माँ का नाम लेते ही बहल जाता है.,

 

रूह के रिश्तों की ये गहराइयाँ तो देखिये,

चोट लगती है हमें और तड़पती है माँ,

हम खुशियों में माँ को भले ही भूल जायें,

जब मुसीबत आती है तो याद आती है माँ.,

 

कही हो जाये ना घर की मुसीबत लाल को मालूम,

छुपा कर तकलीफें तेरा मुस्कुराना याद आता है,

जब आये थे तुझे हम छोड़ कर परदेश मेरी माँ,

मुझे वो तेरा बहुत आंसू बहाना याद आता है.,

 

किसी भी मुस्किल का अब,

किसी को हल नहीं निकलता,

शायद अब घर से कोई,

माँ के पैर छुकर नहीं निकलता.,

 

Conclusion

दोस्तों आज हुमने जो आपको माँ के बारे मे Maa shayari in Hindi बताई अपने उसे जरूर पढ़ा होगा साथ मे अपने उन लेख को भी पढ़ लिया होगा जो हमने आपको पोस्ट मे सबसे ऊपर बाते है।

Leave a Comment