Yada Yada hi Dharmasya Lyrics in Hindi & English – Mahabharat Serial

Yada Yada hi Dharmasya Lyrics – दोस्तों आज हम आपको महाभारत सीरियल की सुपरहिट धार्मिक गीत के Yada Yada hi Dharmasya Sloka शेयर कर रहे यह गीत 2013 मे बहुत ज्यादा फेमस रहा यह गीत भगवान श्री कृष्ण के बैकग्राउंड मे प्ले होता क्योंकि आप सभी तो जानते है की भगवान श्री कृष्ण की वाणी कितनी अमृत वाणी है जो अपने कई उपदेशों से लोगों को सही मार्ग दिखते है।

yada yada hi dharmasya lyrics

यह Yada Yada hi Dharmasya Lyrics भी एक श्लोक है जो की भगवान श्री कृष्ण ने महाभारत मे अर्जुन को बोल है आज हम आपको उसी अमृत वाणी का लीरिक्स इस पोस्ट मे आपको बताएंगे। तो आइए सुरू करिए और पढिए हमारे साथ यह Lyrics इस पोस्ट के मध्यम से।

 

Yada Yada hi Dharmasya Lyrics in Hindi

अब आपको हम Mahabharat Serial के संगीत Yada Yada hi Dharmasya in Hindi मे पढ़ाने जा रहे जो की हमने आपके लिए इस आर्टिकल मे प्रस्तुत किया है।

 

यदा यदा हि धर्मस्य ग्लानिः भवति भारत,

अभ्युत्थानमधर्मस्य तदा आत्मानं सृजामि अहम् |

परित्राणाय साधूनां विनाशाय च दुस्-कृताम्,

धर्म-संस्थापन-अर्थाय सम्भवामि युगे युगे ||

 

Yada Yada hi Dharmasya Lyrics in English

अब आपको हम Mahabharat Movie के संगीत Yada Yada hi Dharmasya Lyrics in English मे पढ़ाने जा रहे जो की हमने आपके लिए इस आर्टिकल मे प्रस्तुत किया है।

 

Yada-yada hi dharmasya

Glanir bhavati bharata

Abhyutthanam adharmasya

Tadatmanam srjamy aham

 

Paritranaya sadhunam

Vinasaya ca duskritam

Dharma-samsthapanarthaya

Sambhavami yuge-yuge

 

Yada Yada hi Dharmasya Meaning in Hindi

अब आपको हम यह Yada Yada hi Dharmasya Sloka Meaning in Hindi मे बताने जा रहे क्योंकि किसी भी श्लोक को पढ़ने के बाद उसे समझना सबसे जरूरी होता है।

 

हे भारत! जब-जब धर्म की हानि और अधर्म की वृद्धि होती है, तब-तब ही मैं अपने रूप को रचता हूँ अर्थात साकार रूप से लोगों के सम्मुख प्रकट होता हूँ |

साधु पुरुषों का उद्धार करने के लिए, पाप कर्म करने वालों का विनाश करने के लिए और धर्म की अच्छी तरह से स्थापना करने के लिए मैं युग-युग में प्रकट हुआ करता हूँ |

 

Yada Yada hi Dharmasya Meaning in English

अब आपको हम यह Yada Yada hi Dharmasya Meaning in English मे बताने जा रहे क्योंकि किसी भी श्लोक को पढ़ने के बाद उसे समझना सबसे जरूरी होता है।

 

Whenever, O Bharat, righteousness (dharma) declines
and unrighteousness is rampant, I manifest myself.

I manifest myself from age to age to defend the pious,
destroy the wicked, and strengthen dharma.

 

Read Also – Tum Jio Hajaro Saal Lyrics

 

Music Video

अगर आपको Yada Yada hi Dharmasya Sloka को म्यूजिक विडिओ के जरिए सुनना हो तो आप इस यूट्यूब की विडिओ को देख सकते और सुन और पढ़ सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *